Tag Archives: भजन

सुबह सबेरा कब आएगा, कब ये रात ढलेगी

सुबह सबेरा कब आएगा, कब ये रात ढलेगी छोड़ सखी तुम ना ना करना, तब तो बात बनेगी कब तक मैं इस पार प्रिये, तुम उस पार रहोगी कब तक सावन सूखा होगा, सूनी राह चलोगी चलो हाल मिलकर पूछें, … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , , , , , , , | Leave a comment

जय भारत, जय जय भारत

भिन्न जाति और बोली भारत ईद, दिवाली, होली भारत राजनीति और नेता भारत जय जवान हैं बेटा भारत भूख, ग़रीबी सहता भारत कृषक आप ही मरता भारत ‘Pad Man’ दर्शाता भारत कमियों पर शर्माता भारत चन्द्रयान अभियान भारत ISRO है … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , , , , , | Leave a comment

आसमान से गिरते रुई के फोहे

आसमान से गिरते रुई के फोहे कैसे ये उगते होंगे जाने किसने बोए रंग-बिरंगे कोई नहीं, हैं सारे उज़ले फूल सारे उज़ले फ़ूल गिरे और मौसम बिलकुल कूल की जैसे कोई सफ़ेद दरी-सी ओढ़ी चलती कार हरा पेड़ पहना हुआ … Continue reading

Posted in जीवन | Tagged , , , , , , , , , , , , , | Leave a comment